Header Ads

लाचार बुढ़िया की 💕Heart Touching Videos💕|| Emotional Story Make You Cry || Real Inspirational Story

एक बार की बात है एक बूढ़ी औरत की दो जवान बेटे मर गए, 10 साल पहले पति भी चल बसे दौलत के नाम पर बची एक सिलाई मशीन 70 साल की बूढ़ी अम्मा गांव भर के कपड़े सिलती रहती बदले में कोई चावल दे जाता या गेहूं या बाजरा.

motivational story in hindi

सिलाई करते समय उसकी कमजोर गर्दन डमरु की तरह हिलती रहती दरवाजे के सामने से जो भी निकलता उसे वह राम-राम कहना नहीं भूलती दया दिखाने वाले व्यक्ति से उसे हमेशा चीड़ रहते छोटे-छोटे बच्चे उसके दरवाजे पर आकर शोर मचाते लेकिन अम्मा उसे कभी बुरा भला नहीं कहती बल्कि उनके आने से खुश होती प्रधान जी गांव की पाठशाला के लिए चंदा इकट्ठा करने गए तो अम्मा की घर के हालात देखकर पिघल गया.
motivational story in hindi

        motivational story in hindi


 तुम अगर हां कह दो तो वृद्धापेंशन मैं तुम्हें दिलाने का कोशिश करूंगा, अम्मा घायल से होकर बोली बेटा भगवान ने मुझे 2 हाथ दिए हैं मेरा मशीन मुझे पेट रोटी दे ही देते तो मैं किसी के आगे हाथ क्यों फैलाउंगी क्या तुम यहां यही कहने आए थे मैं तो कन्या पाठशाला बनाने के लिए चंदा लेने  जा रहा था तो आप पर नजर पड़ी .

तो मैं आपके पास आ गया  लेकिन बेटा तेरी हालत देखकर क्या तुम कन्या पाठशाला बनवाएगा अम्मा की झुरिया भरी चेहरे पर धूप से खिल गई हां एक दिन बनवा उनकी दादी बस तेरा आशीष चाहिए अम्मा जैसे तैसे घुटने पर हाथ देकर उठी ताककर अपना संदूक निकाली उसमें से ताककर एक बटवा निकला जिसमें से ₹300 निकला और प्रधान जी के हथेली पर रख दिए मैंने सोचा था मरने से पहले गंगा नहाने जाऊंगी इसीलिए यह पैसे जोड़ कर रखे थे.


Read This Story  चूहा और मेंढक की प्रेरणादायक कहानी

motivational stroy in hindi

प्रधान जी बोले तुम यह रुपए मुझे क्यों दे रही हो बेटे गंगा नहाने नहीं जाऊंगा तुम पाठशाला बनवा दो सबसे बड़ा गंगा स्नान के लिए क्या होगा तुम पाठशाला बनवा दो फिर वह कपड़े सिलने के लिए चली गई,

दोस्तों अगर यह कहानी ने आपके दिल को छुआ हो तो इसको लाइक कीजिए और फेसबुक पर शेयर कीजिए

दोस्तों इंसानियत दिल में होती है हैसियत में नहीं दोस्तों ऊपर वाला कर्म  देखता है वसीयत नहीं. 


No comments

Powered by Blogger.